उत्सव..!

खो गया जिसका पाँच रुपैया, बच्चा बोला भैय्या-भैय्या..कैसे मैं घर को जाऊँगा, मुझको डाँटेगी मेरी मैय्या..
सुबह सवेरे नहा-धुला कर, सजा-धजा कर लिए बलईय्या..

बज्जी जाओ,चीज्जी खाओ..बोली देकर पाँच रुपैय्या..!
बज्जी रास्ते मोड़ जो आया,हवा चली वहाँ सैय्या-सैय्यां..

झप-झप नच्ची बारिश में,जाने कहाँ फिर गया रुपैय्या..
नजरे प्यासी,शक्ल उदासी..आँखो से आँसू ढुलैय्या..

सुबकी लेकर बोला वो, मैं तो लुट गया रे भईया..😭😜
छुप्पा-छुप्पी खेल-खेल में, जेब में उसकी रख दिया रुपैय्या..

मुस्कान खिली फिर आँखों में..चेहरे पर आ गई हसैय्या..
माँ को ईमली बहुत पसंद हैं…लूंगा मैं तो दो-दो पैय्या..☺

जाते-जाते झप्पी डाली,पप्पी ली..हो गया अपना उत्सव भैय्या..!

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s